Posts

Showing posts from March, 2015

दुनिया में

इष्ट देव सांकृत्यायन  बार बार का आना-जाना दुनिया में इतना बड़ा बना फसाना दुनिया में तुमको लगता है तुम लाए हो लेकिन उड़े है कब से ये परवाना दुनिया में चाह सहेजे सबकी ख़ुशियों की चुप-चुप भटक रहा है एक दीवाना दुनिया में अपनी नज़र में सबसे नीचे गिरा वही बना फिरे जो बड़ा सयाना दुनिया में चादर पूरी नहीं बुनेगी कुछ भी कर लो खटर-पटर ये ताना-बाना दुनिया में धूल हो गए क़िले-महल जाने कितने पूछ रहे तुम ठौर-ठिकाना दुनिया में ईर्ष्या, द्वेष, लोभ, मोह, मद ही शाश्वत हैं क्या बांटें हम नया-पुराना दुनिया में

Most Read Posts

Bhairo Baba :Azamgarh ke

रामेश्वरम में

Maihar Yatra

Azamgarh : History, Culture and People

...ये भी कोई तरीका है!

सीन बाई सीन देखिये फिल्म राब्स ..बिना पर्दे का

आइए, हम हिंदीजन तमिल सीखें

विदेशी विद्वानों के संस्कृत प्रेम की गहन पड़ताल

पेड न्यूज क्या है?

ये क्या क्रिकेट-क्रिकेट लगा रखा है?