Posts

Showing posts from June, 2012

संसद बनाम जनता

Image
संसद बनाम जनता अन्ना   हजारे   जी   के   साथ   जब   पूरा   देश  लोकपाल बिल के लिए  आन्दोलन   कर   रहा था   तब   सारे   सांसद,   विपक्ष   को   छोड़   कर एक   स्वर   में   घोषणा   कर   रहे   थे   कि संसद    सर्वोच्च   है ।  क़ानून   बनाने   का   काम  संसद   का   है   और   प्रत्येक   सर्वोच्च   संस्था को   यह   विशेष   अधिकार   होता   है   कि   वह   कार्य   करे   या   न   करे   तभी   तो   वह   सर्वोच्च   है । उसी   तरह   संसद   को   इस   बात  की   भी   स्वतंत्रता   होती   है   कि   सही   क़ानून   बनाए   या गलत   क़ानून   बनाए  ,  कमज़ोर   क़ानून   बनाए   या   मज़बूत  क़ानून  बनाए   या   कोई   भी कानून   न   बनाए  ।  उसके   ऊपर   कोई   दबाव   बनाना   उसकी   सर्वोच्चता   को   चुनौती   देना है,  और   ऐसा   करना   संसदीय   विशेषाधिकार   का   उल्लंघन   है  ।  उसकी   सर्वोच्चता   को चुनौती   देने   का   परिणाम   बाबा   रामदेव   अच्छी   तरह   समझ   चुके   हैं   किन्तु   अन्ना   जी को   समझाने   में   अभी   समय   लगेगा। स रकार   बार   बार   समझाती  रही   कि   लोकपाल    से

Most Read Posts

रामेश्वरम में

Bhairo Baba :Azamgarh ke

Maihar Yatra

इति सिद्धम

...ये भी कोई तरीका है!

Azamgarh : History, Culture and People

विदेशी विद्वानों के संस्कृत प्रेम की गहन पड़ताल

पेड न्यूज क्या है?

आइए, हम हिंदीजन तमिल सीखें

सीन बाई सीन देखिये फिल्म राब्स ..बिना पर्दे का