एक सवाल

प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति बनाना व्यक्तिगत मामला है. जज बनाना सार्वजनिक मामला कैसे हो सकता है? कृपया संदर्भ-प्रसंग रहित व्याख्या करें.

Comments

Popular posts from this blog

रामेश्वरम में

आइए, हम हिंदीजन तमिल सीखें

विदेशी विद्वानों के संस्कृत प्रेम की गहन पड़ताल

Most Read Posts

Bhairo Baba :Azamgarh ke

Maihar Yatra

रामेश्वरम में

Azamgarh : History, Culture and People

सीन बाई सीन देखिये फिल्म राब्स ..बिना पर्दे का

आइए, हम हिंदीजन तमिल सीखें

...ये भी कोई तरीका है!

ये क्या क्रिकेट-क्रिकेट लगा रखा है?

विदेशी विद्वानों के संस्कृत प्रेम की गहन पड़ताल

गन्ने के खेत में रजाई लेकर जाती पारो